हिंदू धर्म में श्रावण या सावन महीने को सबसे खास महत्व दिया गया है. इस पूरे महीने सभी भक्तगण भगवान शंकर को प्रसन्न करने में लगे रहते हैं और यकीनन भोलेनाथ सबकी वाजिफ इच्छा पूर करते हैं. शस्त्रों में ऐसी मान्यता होती है कि अगर सावन के माह में आपने सोमवार के दिन शंकर जी की खास पूजा की तो आपकी सभी मनोकमानाएं पूरी होती हैं क्योंकि शिव जी का सबसे प्रिय दिन सोमवार ही होता है. लोगों को इस दिन अगर सुख-संपत्ति या मनवांछित जीवनसाथी चाहिए होता है तो वे सोलह सोमावार का व्रत रखते हैं और उन्हें भगवान शंकर के वरदान का सौभाग्य प्राप्त होता है. इस सावन के पहले सोमवार को कर दें ये छोटा सा काम, तो निसंदेह भगवान शंकर आपके जीवन में ऐसा साथी का प्रवेश करवाएंगे जो आपके साथ कदम मिलाकर चले.

इस सावन के पहले सोमवार को कर दें ये छोटा सा काम

इस साल 27 जुलाई से श्रावण मास या सावन के महीने की शुरुआत होगी और हर साल की तरह हर भक्त ने अपनी विशेष पूजा का दिन भी निर्धारित किया ही होगा. अगर सावन महीने के सोमवार को आपकी पूजा सच्चे मन और भक्तिपूर्ण होती है तो भोले बाबा बहुत जल्दी प्रसन्न होते हैं ये बात तो हिंदू धर्म के ज्यादातर लोग जानते ही होंगे. इस बार जो योग बन रहा है वो पूरे 19 सालों के बाद है जब आपकी भक्तिभाव से प्रसन्न होकर शिवजी आपकी मनोकामनाएं पूरी करेंगे. लेकिन अगर आपको अपने जीवन में सबसे ज्यादा जरूरत जीवनसाथी की है तो भोलेनाथ इस बार आपकी पूजा स्वीकार जरूर स्वीकार करेंगे.

बस आपको प्रत्येक या पहले सोमवार को उनकी अच्छे से पूजा करनी होगी. साधारण तौर पर आप शिवजी की पूजा बेलपत्र, धतूरा, भांग, दूध और फल के साथ करते हैं लेकिन इस सावन सोमवार के दिन आपको इस पूजा विधि के अलावा काले तिल और चंदन का भी इस्तेमाल करें. इसके साथ ही शिवजी के मंदिर के बाहर बैठे किसी भूखे को पेटभर के खाना खिलाइये और शिवजी के ऊपर चढ़ाने के बाद बचे हुए को उस गरीब को दान कर दीजिए. इस विधि को हर सोमवार करने से आपकी मनोकामनाएं पूरी होंगी और मनवांछित फल भी मिलेगा.

क्या खास है इस बार के सावन में ?

इस सावन का पहला सोमवार 30 जुलाई को पड़ेगा, और इसके बाद इसमें तीन और सोमवार पड़ेंगे. ऐसा बताया जा रहा है कि इस बार 19 साल बाद ऐसा संयोग बन रहा है कि इस बार सावन के तीसरे सोमवार को हरियाली तीज है और इस दिन शादीशुदा महिलाएं अपने सुहाग की लंबी उम्र की प्रार्थना कर सकती हैं और उन्हें इसका सौभाग्य भी प्राप्त होगा. यानि अगर आपको मनवांछित जीवनसाथी पाना हो या फिर शादीशुदा लोगों को अपने जीवनसाथी की लंबी उम्र की प्रार्थना करनी हो, हर तरह से ये सावन आपके लिए खुशियां ही लेकर आ रहा है. इस बार भाग्य से अच्छा दिन है मना लीजिए भोलेनाथ को. इस बार पहला सोमवार 30 जुलाई, दूसरा 6 अगस्त, तीसरा 13 अगस्त और चौथा सोमवार 20 अगस्त को है क्योंकि 26 अगस्त दिन रविवार को सावन का पवित्र महीने का अंतिम दिन है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here