इस बढ़ती महंगाई के जमाने में लोगो के खर्चे बढ़ते जा रहे है, लोगों की अधिकतम आमदनी उनके जरुरत के सामान को खरीदने व उपयोग करें में खर्च हो जाती है। फिर ऐसा समय आता है कि उन्हें अपनी जरुरतों के सामान के लिए दुकानदारों से उधार लेना पड़ता है। लेकिन दुकानदार भी उपभोक्ताओं को उधार देते देते थक जाते हैं और नए नए तरीके ढूंढते हैं उधार से बचने के लिए। आज हम आपको ऐसे ही कुछ दुकानदारों द्वारा अपनाए गए तरीकों के बारे में बताने वाले हैं जिन देखकर आपकी हंसी रुक नहीं पाएगी। उधार लेने वाले तो उधार ले कर भूल जाते हैं लेकिन देने वाले कभी नहीं भूलते हैं इसलिए उधार ना देने के बहाने भी बहुत बनाते हैं।उधार लेते ही भूल जाते हैं| फिर आप लग जाइए उनके पीछे ख़ुफ़िया पुलिस या किसी भिखारी की तरह और उधारिये ऐसे पेश आएँगे जैसे आप से उधार लेकर उन्होंने आप पर एहसान किया है, शायद आपको मोक्ष की प्राप्ति करवाने में मदद की है! आइये बताते हैं आपको कुछ ऐसे ही अटपटे बहाने-

1.अरे यार इस पोस्टर में तो उधार मांगने वाले व्यक्ति को राजा की उपाधि से सम्मानित कर दिया गया है तो खुद को राजा समझकर वह कभी किसी से उधार मांगने की जरूरत भी नहीं करेगा। है ना कितना नयाब तरीका उधार देने से बचने के लिए।

2. अब जब गरीबी इस कदर पोस्टर पर उतर कर आएगी और खुद बताएगी कि दुकान चलाने वाले ने तो खुद ही लोन लेकर काम कर रहा है तो फिर कोई कैसे उससे उधार मांग सकता है।

3. अब राहुल गांधी जी का प्रधानमंत्री बन पाएंगे यह तो कोई भविष्यवाणी भी नहीं कर सकता है इसका मतलब वह दुकानदार किसी को उधार कब देगा उसकी भविष्यवाणी ही कौन कर सकता है??

4. देखें तो जरा बात तो बिल्कुल सही है दवाई पर तो एक्सपायरी डेट लिखी होती है लेकिन इंसान की एक्सपायरी डेट तो इंसान को खुद ही नहीं पता है तो अब उधार लेना और देने की तो बात पैदा ही नहीं होती है।

5. जब 80-90 साल के इंसान के माता पिता भी जीवित रहने लगे तो फिर इस संसार का क्या होगा? जी हां आप को तो यह देखकर हंसी आ ही गई होगी तो अब उधार ना देने का यह भी बहाना बेहतर है।

6. बात तो बिल्कुल सही है कि राजा मोलभाव नहीं करता है अब हर इंसान राजा होगा तो वह बाजार में आकर ना तो मोलभाव करेगा और ना ही कोई समान उधार खरीदेगा।

 

7. अरे वाह! क्या बात कही है बात तो शत प्रतिशत सच है क्योंकि उधार लेने वाला इंसान उधार लेते समय ही नजर आता है और उधार लेने के बाद तो गायब ही हो जाता है। शायद यह बात पढ़कर उधार लेने वाले को कुछ शर्म तो महसूस होगी ही और वह उधार नहीं मांगेगा।

जितने भी तरीके बताये हैं, उन्हें एक बार इस्तेमाल करके देखिये और फिर होगा जादू! उधार लेने वालों की यादाश्त तो वापस आएगी ही, आपके पैसे भी लौट आएँगे! उम्मीद है आपको हमारी पोस्ट प्रेरणादायक और अच्छी लगी होगी। ऐसे ही और भी पोस्ट पढ़ने के लिए बने रहे हमारे साथ पढ़ते रहिए और दूसरों को भी पढ़ाते रहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here