जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं कि रावण को सबसे ज्यादा ज्ञानी माना जाता है मान्यता अनुसार आज तक रावण के जैसा महाज्ञानी कोई भी नहीं हुआ है वहीं दूसरी और रावण एक शक्तिशाली योद्धा कुशल राजनीतिक सेनापति और वास्तुकला में निपुण होने के साथ-साथ महापंडित और मायावी भी था वह इंद्रजाल, तंत्र, सम्मोहन और तरह-तरह की\ जादुई विद्या को बखूबी जानता था उसने मेघनाथ के जन्म से पहले ही मंदोदरी के गर्भ में ही मेघनाथ को अमर बनाने के लिए नक्षत्रों को एक स्थिति में ला दिया था परंतु आयु कारक कहे जाने वाले शनि देव ने अपना स्थान बदल लिया जिसकी वजह से मेघनाथ अल्प आयु हो गया था ऐसा कहा जाता है कि लंकापति रावण सभी शास्त्रों का ज्ञाता था और ज्योतिष और तंत्र विद्या की भी रचना उसी ने की थी इसलिए रावण संहिता में दशानन द्वारा धनवान बनने के उपायों के बारे में व्याख्या की गई है।

रावण संहिता में धनवान बनने के जिन उपायों के बारे में बताया गया है यदि इन उपायों को व्यक्ति अपने जीवन में अपनाता है तो वह अपने भाग्य को पूरी तरह से बदल सकता है और वह भी धनवान बन सकता है आज हम आपको इस लेख के माध्यम से रावण संहिता में धनवान बनने के कुछ उपायों के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी देने वाले हैं।

आइए जानते हैं रावण संहिता के अनुसार धनवान बनने के उपाय

  • रावण संहिता के अनुसार जिस व्यक्ति को अपनी आर्थिक तंगी से छुटकारा नहीं मिल पा रहा है और उसको धन की प्राप्ति नहीं हो पा रही है तो उस व्यक्ति को सुबह के समय जल्दी उठकर नित्य कर्मों से निवृत्त होकर स्नान करने के पश्चात किसी वृक्ष के नीचे आसन बिछाकर बैठना चाहिए इसके पश्चात रुद्राक्ष की माला लेकर “ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं नम: ध्व: ध्व: स्वाहा” मंत्र का जाप करना चाहिए इस मंत्र को 21 दिन तक लगातार करना होगा यदि आप इस मंत्र को सिद्ध कर लेंगे तो आपके जीवन में धन प्राप्ति के योग बन जाएंगे।

  • रावण संहिता के अनुसार किसी भी शुभ अवसर जैसे अक्षय तृतीया दीपावली होली आदि की मध्यरात्रि में अगर कुछ खास उपाय किए जाए तो इससे साल भर के भीतर धनवान बनने के योग होते हैं इस उपाय को करने के लिए दिवाली की मध्यरात्रि में कुमकुम या अष्टगंध की थाली पर “ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं महालक्ष्मी, महासरस्वती ममगृहे आगच्छ-आगच्छ ह्रीं नम:” लिखना होगा इसको लिखने के साथ ही साफ आसन बिछाकर रुद्राक्ष या कमलगट्टे की माला की सहायता से इन मंत्रों का जाप करना होगा इन मंत्रों का जाप आपको कम से कम 108 बार करना है आप अपनी श्रद्धा अनुसार इन मंत्रों का जाप अधिक भी कर सकते हैं यदि आप यह उपाय करेंगे तो इससे धन की देवी माता लक्ष्मी जी की कृपा आपके ऊपर बनी रहेगी।

  • अगर आप धन से संबंधित सभी परेशानियों से छुटकारा पाना चाहते हैं तो आप दीपावली की रात विधि विधान पूर्वक धन की देवी माता लक्ष्मी जी की पूजा कीजिए पूजा करने के पश्चात आप सो जाएं और सुबह जल्दी उठने के पश्चात पलंग से उतरने से पहले आपको 108 बार “ॐ नमो भगवती पद्म पदमावी ऊँ ह्रीं ऊँ ऊँ पूर्वाय दक्षिणाय उत्तराय आष पूरय सर्वजन वश्य कुरु कुरु स्वाहा” का जाप करना होगा जब यह जाप पूरा हो जाए तो उसके पश्चात दसों दिशाओं में 10-10 बार फूंक मारे जो व्यक्ति इन मंत्रों का जाप अपनी पूरी श्रद्धा के साथ करता है उसके जीवन में कभी भी धन की कमी नहीं रहती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here