आप लोगों ने व्यक्तियों को तरक्की करते हुए देखा ही होगा या सुना होगा व्यक्ति अपने जीवन में काफी मुकाम हासिल कर लेते हैं परंतु व्यक्ति की मेहनत के साथ साथ उसकी किस्मत भी उसके साथ होनी चाहिए तभी व्यक्ति सफल हो पाता है आज हम आपको एक ऐसे व्यक्ति के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं जिसने अपने जीवन में इतनी तरक्की पा ली है कि आपको इसके बारे में जानकर आश्चर्य जरूर होगा आज हम आपको जिस व्यक्ति के बारे में बता रहे हैं वह 16 साल पहले एक छोटे से ढाबे पर मात्रा 150 रुपये प्रति महीने और पंचर की दुकान पर काम किया करता था इस व्यक्ति ने मंगलवार को डेढ़ करोड़ की जगुआर कार पर आरटीओ में बोली के जरिए 15 लाख रुपए में वीआईपी नंबर खरीदा है उसने यह बोली RJ 45 सीजी 0001 नंबर के लिए लगाई थी इतना ही नहीं इस नंबर के लिए एक लाख एक हजार की फीस भी अलग से जमा कराई थी।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस बोली में 3 फर्मो ने भाग लिया था आखिरकार जयपुर के निवासी राहुल तनेजा ने सबसे महंगी बोली लगाकर नंबर अपने नाम कर लिया था तनेजा इवेंट और वेडिंग मैनेजमेंट कंपनी लाइव क्रिएशन्स के फाउंडर है डिस्ट्रिक्ट ट्रांसपोर्ट ऑफिसर अनिल सोनी ने इस बात को बताया है कि यह अब तक का प्रदेश का सबसे महंगा नंबर है।

आपको बता दें कि राहुल तनेजा एमपी के मंडला तहसील के एक छोटे से गांव में बहुत ही निर्धन परिवार में इनका जन्म हुआ था यह अपने पांच भाइयों और बहनों में सबसे छोटे हैं शुरुआत में राहुल तनेजा ने अपने पिता के साथ पंचर बनाने का काम किया था इनके मन में कुछ बड़ा करने की चाहत थी जिसकी वजह से राहुल तनेजा ने अपना घर भी छोड़ दिया था इन्होंने 2 साल तक जयपुर में ढाबे पर काम किया था दिवाली के समय फुटपाथ पर पटाखे होली में रंग और मकर संक्रांति में पतंग बेचा करते थे और यह घर-घर जाकर अखबार भी डाला करते थे दिन के समय ढाबे पर काम करते थे और रात को ऑटो भी चलाया करते थे।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि राहुल तनेजा ने इस बात को बताया कि एक दिन उनके पर्सनैलिटी को देख कर मोहल्ले के कुछ लड़कों ने उनको मॉडलिंग करने की सलाह दी थी मॉडलिंग में मिस्टर जयपुर मिस्टर राजस्थान और मेल ऑफ द ईयर के टाइटल जीते इसके पश्चात इनको लगातार शो मिलते चले गए थे बाद में उन्होंने इवेंट किये अब राहुल तनेजा वेडिंग्स के इवेंट्स कर रहे हैं राहुल का शुरू से ही 1 नंबर से नाता रहा है राहुल तनेजा के मोबाइल और लैंडलाइन के आखिरी सात नंबर और कारों के नंबर भी 1 ही है।

नोट:- यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी तो आप नीचे दिए हुए कमेंट बॉक्स में हमको कमेंट कर सकते हैं और इस पोस्ट को अपने परिवार के सदस्य और मित्रों व साथियों के बीच शेयर भी कर सकते हैं हम आगे भी इसी प्रकार से जानने योग्य जानकारियां लेख के माध्यम से लाते रहेंगे धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here