आज के मनुष्य का खानपान काफी बिगड़ चुका है. ऐसे में मनुष्य शरीर को कई प्रकार की बीमारियां होती हैं जिनमें से सांस फूलने की समस्या एक आम समस्या है. इस बीमारी को साइंस की भाषा में डिस्पनिया कहते हैं. सांस फूलने की बीमारी से मतलब है कि आपको सांस लेने में तकलीफ होना या घुटन महसूस होना. कई बार यह समस्या गंभीर रूप धारण कर लेती है जिसके कारण इंसान की मृत्यु भी हो सकती है. यह बीमारी तब होती है जब मनुष्य के शरीर की गतिविधियों का असर उसकी क्षमता से अधिक बढ़ जाता है. उदाहरण के तौर पर देखा जाए तो अगर आप पहाड़ी के इलाकों पर चढ़ाई करते हैं तो वहां ऑक्सीजन की कमी के चलते आपकी सांस आने में दिक्कत महसूस होती है.

अगर आप भी डिसपनिया से पीड़ित है तो आपके लिए आसान चीज करना भी बेहद मुश्किल भरा काम बन जाता है. यह ना केवल हमारी रोजाना की गतिविधियों को प्रभावित करता है बल्कि हमारे स्वास्थ्य को भी हानि पहुंचाता है. इस बीमारी से पीड़ित लोग तरह-तरह की महंगी दवाइयों का इस्तेमाल करते हैं लेकिन इसके बावजूद भी उन्हें संतुष्टि नहीं मिल पाती. आज के इस आर्टिकल में हम आपको सांस फूलने के कुछ ऐसे घरेलू उपाय बताने जा रहे हैं जिनके इस्तेमाल से आप इस बीमारी से हमेशा के लिए छुटकारा पा सकते हैं.

गहरी सांस लेना


सांस फूलने पर गहरी सांस लेना हमारे लिए मददगार साबित हो सकता है. इस प्रक्रिया को अंग्रेजी में डीप ब्रीथिंग और एब्डॉमिनल ब्रीथिंग भी कहा जाता है. गहरी सांस लेने से आपके सांस फूलने की तकलीफ ठीक हो सकती है. इसके लिए सबसे पहले आप अपनी कमर के बल लेट जाएं और अपने हाथों को पेट के ऊपर रखें और अपनी मांसपेशियों को आराम दे. अब अपनी नाक की सहायता से आप गहरी सांसे ले और अपने पेट को आगे बढ़ाते हुए फेफड़ों को हवा से भर ले. इसके बाद आप अपनी सास को कुछ सेकंड के लिए रोककर धीरे-धीरे उसे मुंह से जुड़े और अपने फेफड़ों को खाली कर दे. ऐसा आप 5 से 10 मिनट तक दोहराते रहे. इस व्यायाम को दिन में दो से तीन बार दोहराने से आपकी सांस फूलने की समस्या हमेशा के लिए ठीक हो सकती है.

होंठ गोल करके सांस लेना

होठों द्वारा सांस लेने की प्रक्रिया सांस फूलने की बीमारी का रामबाण इलाज है. इस प्रक्रिया से हमारी सांस फूलने की परेशानी तेजी से कम होती है और इसके इलावा तनाव और चिंताओं से भी हमें मुक्ति मिलती है. इस प्रक्रिया के लिए सबसे पहले आप आराम से बैठ जाएं और गर्दन एवं कंधे की मांसपेशियों को थोड़ी देर के लिए आराम दें. अब आप अपने होठों को जोर से अंदर की ओर दबा लें कुछ सेकंड के लिए अपनी नाक से सांस लेने की कोशिश करें. इसके बाद अब थोड़ा-थोड़ा होठों को खोलते हुए धीरे-धीरे सांस छोड़े. करीब 10 मिनट तक सांस लेकर अंदर छोड़ने की प्रक्रिया को दोहराते रहे.

ब्लैक कॉफी पीएं

अगर आप सांस फूलने की समस्या से जूझ रहे हैं तो ब्लैक कॉफी आपके लिए बेहद फायदेमंद सिद्ध हो सकती है. दरअसल ब्लैक कॉफी में भारी मात्रा में कैफीन मौजूद रहती है जो कि स्वास्थ्य प्रणाली को मजबूत बनाती है और शरीर में आने जाने वाली हवा की क्रियाओं को सुधारती है. आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि ब्लैक कॉफी आपके अस्थमा के लक्षणों को भी दूर करती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here