यह दुनिया बहुत बड़ी है और यह तरह-तरह के लोग रहते हैं। सही कहा जाता है कि हर इंसान एक जैसा नहीं होता है। भले ही व्यक्ति शक्ल से एक ही जैसा दिखे, लेकिन उसकी सोच और समझ सबसे अलग होती है। ज़रूरी नहीं है कि सभी लोगों की बुद्धि बहुत ज़्यादा तेज़ हो। कई ऐसे लोग भी होते हैं जिनकी बुद्धि कमज़ोर होती है। कमज़ोर बुद्धि वाले लोग भी इस दुनिया में आसानी से अपना जीवन यापन कर ही रहे हैं।

अक्सर आपने देखा होगा कि कुछ बच्चे पढ़ने में बहुत ज़्यादा होशियार होते हैं, जबकि वहीं कुछ बच्चे ऐसे भी होते हैं, जिनके दिमाग़ में कुछ घुसता ही नहीं है। ऐसे बच्चों को हर समय टीचर और घर वालों की डाँट सुननी पड़ती है। हर व्यक्ति की आदतें एक जैसी नहीं होती हैं। कुछ लोगों की कई आदतें मिलती हैं तो कई आदतें एकदम अलग होती हैं। कहा जाता है कि व्यक्ति की कुछ आदतें उसके जीवन के कई राज भी खोल देती हैं। आज हम आपको व्यक्ति के सोने की आदतों के बारे में बताने जा रहे हैं कि इससे आपके बारे में क्या पता चलता है।

होती है अलार्म बजने पर बार-बार बंद करने की आदत:

अगर आप भी उन लोगों में शामिल हैं जिन्हें रात में ज़्यादा नींद नहीं आती है तो इससे दुखी होने की कोई ज़रूरत नहीं है। आपको तो इसकी ख़ुशी मनानी चाहिए। जी हाँ साल 2009 में हुए एक शोध के अनुसार जो लोग अपनी सर्केडियन रिदम को नियंत्रण में रखते हैं, वो काफ़ी बुद्धिमान होते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सर्केडियन रिदम साइकल होती है जो व्यक्ति के शरीर को यह बताती है कि कब सोना है, कब जागना है और कब खाना है। जो लोग देर रात तक नींद ना आने से परेशान रहते हैं, उनमें अलार्म बजने पर बार-बार बंद करने की आदत होती है।

रात में 11 बजे सोने और सुबह 8 बजे जागने वाले कमाते हैं ज़्यादा पैसा:

अगर आप भी इन्ही कुछ लोगों में शामिल हैं तो आपको दुखी होने की ज़रूरत नहीं है। बल्कि आपको अपनी इस आदत पर गर्व करने की ज़रूरत है। क्योंकि आपकी ये आदतें आपके इंटेलीजेंट होने की तरफ़ इशारा करती हैं। यूनिवर्सिटी ऑफ़ साउथ मटोन ने एक शोध किया है। इस शोध में उन्होंने 1229 लोगों को शामिल किया। इस शोध में शोधकर्ताओं ने लोगों के सोशियो एकनॉमिक स्टेटस के साथ ही उनकी सोने की आदतों की तुलना की। इसमें उन्होंने पाया कि जो लोग रात में 11 बजे के बाद सोते हैं और सुबह 8 बजे उठ जाते हैं, उनमें पैसे ज़्यादा कमाने की क्षमता होती है।

इनके अंदर होती है कठिनाइयों से लड़ने की ज़्यादा क्षमता:

कई लोग हैं जो सुबह समय पर उठने की कोशिश करते हैं, लेकिन हर रोज़ वह नाकामयाब हो जाते हैं। यह एक तरह से अच्छा संकेत माना जाता है। इससे इस बात का पता चलता है कि आपका आपके शरीर की ज़रूरतों के साथ अच्छा ताल-मेल है। शोधकर्ताओं का मानना है कि जो लोग अपनी सर्केडियन रिदम को नियंत्रित कर लेते हैं वो लोग ज़्यादा रचनात्मक और महत्वाकांक्षी होते हैं। ऐसे लोगों के अंदर कठिनाइयों से लड़ने की क्षमता अन्य लोगों की अपेक्षा ज़्यादा होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here