कई बड़े-बड़े शहर एक महामारी से बुरी तरह पीड़ित हैं। यह कोई संक्रामक बीमारी नहीं है और ना ही भूखे कीड़ों के झुंड से हुई तबाही। मगर फिर भी इसने करोड़ों लोगों का जीना दुश्‍वार कर दिया है। आखिर यह कौन-सी महामारी है? यह महामारी है, ट्रैफिक जाम। यातायात या ट्राफिक हमारे जीवन का वो हिस्सा है, जो हमारी ज़िन्दगी को और आसान बनाता है। यातायात के द्वारा आज हम लम्बी दुरी भी आसानी से, कम समय में तय कर लेते है। मानव ने हर क्षेत्र में अभूतपूर्व विकास किये है, यातायात भी इससे अछुता नहीं है। पहले यातायात के लिए विभिन्न जानवर जैसे ऊँठ, घोड़ा, बैल, हाथी, या फिर मानव निर्मित हाथ गाड़ी, पानी में चलने वाले छोटे जहाज का इस्तेमाल होता है।

सड़कों पर दिन ब दिन बढ़ती गाड़ियों से लोगों की चिंताएं भी बढ़ती जा रही है क्योंकि बढ़ती गाड़ियां ट्रैफिक भी बढ़ाती है। आज के समय में बढ़ता ट्राफिक लोगों के लिए बहुत बड़ी परेशानी बन चुका है। 2 मिनट के लिए भी यदि रेड लाइट हो जाए और रेड लाइट पर रुकना पड़े तो हर कोई टेंशन में आ जाता है और परेशान हो जाता है। लेकिन आज हम आपको बताने वाले हैं एक ऐसे ट्रैफिक जाम के बारे में जो पिछले 73 सालों से लगा ही हुआ है।

जी हां एक ऐसा देश एक ऐसा राज्य है जहां पर पिछले 73 सालों से गाड़ियों का ट्राफिक जाम लगा हुआ है जो आज तक साफ नहीं हो पाया है। इस बात को पढ़कर आपको भी हैरानी हो रही होगी लेकिन यह बिल्कुल सच है। आप भी सोच रहे होंगे कि ऐसा कैसा ट्रैफिक जाम जो 73 सालों से लगा हुआ है और लोग कुछ कर भी नहीं रहे। जबकि 2 मिनट भी गाड़ियां रुकने पर लोगों की गाड़ियों के हॉर्न बजने नहीं रुकते हैं और लगातार गाड़ियों के हॉर्न बजते रहते हैं और शोर शराबा शुरू हो जाता है।

लेकिन यह ऐसा गांव है जहां ना तो कोई शोर शराबा है और ना ही किसी गाड़ी में बचता हुआ हॉर्न। लेकिन फिर भी यह जाम 73 सालों से लगा हुआ है और कोई इस जाम को साफ करने वाला भी नहीं है। इससे भी कहीं ज्यादा हैरानी की बात तो यह है यहां पर 500 कारें जाम में फंसी हुई है जिनको आज तक उनके मालिक लेने नहीं आए हैं। जी हां 500 कारें जो आज तक वहीं पर ऐसी की तैसी खड़ी है और कोई उन्हें हटाने वाला भी नहीं है।

चलिए आपको बताते हैं कि यह 500 कारों का जाम लगा हुआ है बेल्जियम शहर में जो अमेरिकी सैनिकों की कारें हैं। ऐतिहासिक दृष्टि से देखा जाए तो यह कार्य अमेरिकी सैनिकों की है जो द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद उन्हें जंगलों में ही छोड़कर जानी पड़ी थी। बेल्जियम से आए हुए अमेरिकी सैनिक अपनी कारों को जंगल में ही छोड़कर चले गए थे जिन्हें उन्होंने वापस मुड़कर भी कभी नहीं देखा और ना ही वापस लाने की कोशिश की। इसलिए 73 सालों बाद भी वह जाम वैसे का वैसा ही पड़ा है। 500 कारें इस तरह से जंगल में खड़ी हुई है जिस तरह से किसी सड़क पर लगा हुआ जाम दिखाई देता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here