शादी एक पवित्र बंधन होता है इस बात को जो मानते हैं वो हर धर्म के लोग समझते हैं लेकिन कुछ लोग इसे मजाक बना देते हैं. इस्लामिक लोगों का कहना है कि उनके इस्लाम में तीन तलाक की बातें लिखी हैं जिसे सरकार ने खंडित कर दिया मगर फिर भी यह सिलसिला जारी है. तीन तलाक में शादीशुदा लोगों को कितना सहना पड़ता है इस बात का अंदाजा कोई नहीं लगा सकता है. मगर आज हम आपको उदाहरण के तौर पर यूपी के बरेली में रहने वाले एक बुजुर्ग के बारे में बताएंगे. जिसने हलाला के नाम पर अपनी उम्र से बहुत ही कम लड़की से शादी कर ली और अब तलाक नहीं देना चाहता. उस जगह की यह सनसनीखेज खबर हो गई है. जहां 65 साल के बुजुर्ग को हलाला में मिली कम उम्र की दुल्हन, जिसका फायदा उठाकर वो उसे तलाक नहीं देना चाहता.

उत्तराखंड मे रहने वाले अकील अहमद की बेटी जूही की शादी बरेली में रहने वाले मोहम्मद जावेद के साथ साल 2010 में निकाह हुआ. शादी के बाद इन्हें दो बेटे हुए कुछ समय साथ रहने के बाद दोनों दंपत्ति में मनमुटाव हुआ और उन्होंने तलाक लेने का फैसला किया. इस दौरान एक बेटा जूही के पास तो दूसरा बेटा जावेद के पास रखा गया, मगर कुछ समय बाद दोनों को एहसास हुआ कि उन्हें अपने रिश्ते को एक मौका देना चाहिए और फिर से निकाह कर लेना चाहिए. रस्म के मुताबिक दोबारा साथ रहने के लिए जूही ने एक बुजुर्ग से हलाला के तहत निकाह किया और फिर उस युवक को तलाक देने था लेकिन उसकी नियत बदली और अब वो तलाक नहीं देना चाहता है. उस युवक की उम्र 65 साल है जबकि जूही अभी बहुत कम उम्र की है. बुजुर्ग पति से अलग होने के लिए जूही को तलाक चाहिए तभी वो जावेद के साथ निकाह कर सकती है लेकिन बुजुर्ग पति जुही को तलाक नहीं देना चाहता और किसी भी कीमत पर वो अब जूही को छोड़ना नहीं चाहता. इससे उनके परिवार के लिए एक चुनौती खड़ी हो गई है.

सभी इसी मुद्दे पर बात कर रहे हैं कि आखिर बुजुर्ग आदमी से जुही को कैसे छुड़ाया जाए और ऐसा क्या हो जाए कि वो खुद जुही को तलाक दे दे. इसी मामले में परिवार के सदस्य और जूही फरहत नकवी के पास गए जहां उन्हें समस्या का समाधान निकालने के लिए कहा गया. इस परेशानी को लेकर जुही और उसका परिवार केंद्रिय भाजपा मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की बहन फरहत के पास गए जिसके बाद वहां एक योजना बनाई जा रही है जिससे वो आदमी जुही को तलाक दे सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here